T 4160 - "*स्याही की तासीर का अंदाज देखिये....,**खुद-ब-खुद बिखरती है तो दाग बनती है......कोई और बिखेरता है तो अल्फ़ाज़ बनती है.....*और उँगली पर लग जाये तो 'सरकारें' बदलती हैं.... .!*" ~ ~ Ef SP jin

An enigmatic superstar | The Shahenshah of Bollywood

Let's Connect

sm2p0