FB 2698 - गुणैरुत्तमतां यान्ति नोच्चैरासनसंस्थितैः प्रसादशिखरस्थोऽपि किं काको गरुडायते॥* अर्थात्- गुणों से ही मनुष्य बड़ा बनता है न कि किसी ऊंचे स्थान पर बैठ जाने से। राजमहल के शिखर पर बैठ जाने पर भी कौआ गरुड़ नहीं बन जाता। your deeds make you worthy of sitting on a high pedestal ; sitting on top of the roof of a rulers castle, does not make you an an eagle ..

An enigmatic superstar | The Shahenshah of Bollywood

FB 2698 - गुणैरुत्तमतां यान्ति नोच्चैरासनसंस्थितैः प्रसादशिखरस्थोऽपि किं काको गरुडायते॥* अर्थात्- गुणों से ही मनुष्य बड़ा बनता है न कि किसी ऊंचे स्थान पर बैठ जाने से। राजमहल के शिखर पर बैठ जाने पर भी कौआ गरुड़ नहीं बन जाता। your deeds make you worthy of sitting on a high pedestal ; sitting on top of the roof of a rulers castle, does not make you an an eagle ..

Let's Connect

sm2p0