FB 2434 -"आठवणींची फुलपाखरे हातातून निसटतात.... आणि, सुमधुर स्मृतींचे रंग बोटावर सोडून जातात." ~ Ef N यादों की तितलियाँ हाथ से निकल जाती हैं…। और, शौकीन यादों के रंग उंगली छोड़ देते हैं।

An enigmatic superstar | The Shahenshah of Bollywood

Let's Connect

sm2p0