FB २३४७ 2347 - जी कुछ विलंभ हो गया , लिख ना पाया ; लेकिन जो लिख पाते हैं उनका लिखना काम ना हुआ ; अनेक धन्य वाद ये याद दिलाने के लिए की यदि ना कुछ लिखूँ तो लोगों को आश्चर्य हित है ! सब ठीक है 🙏

An enigmatic superstar | The Shahenshah of Bollywood

Let's Connect

sm2p0