FB 2346 - अभी अभी लौटें हैं हम काम से ; सुबह के चार बीस और छे बजे से , दिन चर्या की बातों का बतंगड़ बना कर ; कुछ सहज कुछ ना सहज सुना कर , बैठ गए हैं हम अपनी social दुकान पर ; ना जाने क्या बिके ना बिके आज यहाँ पर ~ ab 🙏🙏❤️❤️

An enigmatic superstar | The Shahenshah of Bollywood

FB 2346 - अभी अभी लौटें हैं हम काम से ; सुबह के चार बीस और छे बजे से , दिन चर्या की बातों का बतंगड़ बना कर ; कुछ सहज कुछ ना सहज सुना कर , बैठ गए हैं हम अपनी social दुकान पर ; ना जाने क्या बिके ना बिके आज यहाँ पर ~ ab 🙏🙏❤️❤️

Let's Connect

sm2p0