FB 2216 - ‘matrushka’‘ - maternity symbol - Russian " matryoshka’ - матрёшка The Russian Doll .. open it in the middle and another doll comes out, open that and another smaller doll comes and another and another and another, as you keep on opening each doll .. Babuji on his first visit to Soviet Russia, wrote this poem : गुड़िया के अंदर गुड़िया है , गुड़िया अंदर गुड़िया , और फिर गुड़िया के अंदर गुड़िया , फिर गुड़िया में गुड़िया ; मैंने इक दिन सब से छोटी गुड़िया से पूछा , गुड़िया ! तू कितनी गुड़ियों के अंदर , क्या तेरा ये जाना । इतना सुनकर , मुझसे बोली सबसे छोटी गुड़िया , कि , दुनिया के अंदर दुनिया है , दुनिया अंदर दुनिया, फिर दुनिया के अंदर दुनिया , फिर दुनिया में दुनिया ; औ , तू कितनी दुनियों के अंदर , भान तुझे इंसान !!! भान : means awareness .. The vision of a poet is ever eternal ; एक कवि की दूरदर्शिता , अद्भुत होती है

An enigmatic superstar | The Shahenshah of Bollywood

Amitabh Bachchan, An enigmatic superstar | The Shahenshah of Bollywood

FB 2216 - ‘matrushka’‘ - maternity symbol - Russian " matryoshka’ - матрёшка

The Russian Doll .. open it in the middle and another doll comes out, open that and another smaller doll comes and another and another and another, as you keep on opening each doll ..
Babuji on his first visit to Soviet Russia, wrote this poem :

गुड़िया के अंदर गुड़िया है , गुड़िया अंदर गुड़िया ,
और फिर गुड़िया के अंदर गुड़िया , फिर गुड़िया में गुड़िया ;
मैंने इक दिन सब से छोटी गुड़िया से पूछा , गुड़िया !
तू कितनी गुड़ियों के अंदर , क्या तेरा ये जाना ।
इतना सुनकर , मुझसे बोली सबसे छोटी गुड़िया ,
कि , दुनिया के अंदर दुनिया है , दुनिया अंदर दुनिया,
फिर दुनिया के अंदर दुनिया , फिर दुनिया में दुनिया ;
औ , तू कितनी दुनियों के अंदर , भान तुझे इंसान !!!

भान : means awareness ..

The vision of a poet is ever eternal ; एक कवि की दूरदर्शिता , अद्भुत होती है

FB 2216 - ‘matrushka’‘ - maternity symbol - Russian " matryoshka’ - матрёшка The Russian Doll .. open it in the middle and another doll comes out, open that and another smaller doll comes and another and another and another, as you keep on opening each doll .. Babuji on his first visit to Soviet Russia, wrote this poem : गुड़िया के अंदर गुड़िया है , गुड़िया अंदर गुड़िया , और फिर गुड़िया के अंदर गुड़िया , फिर गुड़िया में गुड़िया ; मैंने इक दिन सब से छोटी गुड़िया से पूछा , गुड़िया ! तू कितनी गुड़ियों के अंदर , क्या तेरा ये जाना । इतना सुनकर , मुझसे बोली सबसे छोटी गुड़िया , कि , दुनिया के अंदर दुनिया है , दुनिया अंदर दुनिया, फिर दुनिया के अंदर दुनिया , फिर दुनिया में दुनिया ; औ , तू कितनी दुनियों के अंदर , भान तुझे इंसान !!! भान : means awareness .. The vision of a poet is ever eternal ; एक कवि की दूरदर्शिता , अद्भुत होती है

Let's Connect

sm2p0