FB 2177 - "रहने दो मुझको यूँ उलझा हुआ सा अपनो में, सुना है सुलझ जाने से धागे अलग अलग हो जाते हैं" ~ Ef

An enigmatic superstar | The Shahenshah of Bollywood

Let's Connect

sm2p0